Home Lifestyle तेज पत्ता को जलाने से क्या होता है? तेज पत्ता के फायदे : Benefits of Bay Leaf (Tej patta) in Hindi

तेज पत्ता को जलाने से क्या होता है? तेज पत्ता के फायदे : Benefits of Bay Leaf (Tej patta) in Hindi

0
तेज पत्ता को जलाने से क्या होता है? तेज पत्ता के फायदे : Benefits of Bay Leaf (Tej patta) in Hindi

 Tej patta ke fayde in Hindi

तेज पत्ता का उपयोग हर भारतीय रसोई में रोजाना किया जाता है । तेजपत्ते का उपयोग मसाले के रूप में  व्यंजनों में जायका और खुशबू बढ़ाने के लिए किया जाता है। ये पत्तियां कुछ हद तक यूकेलिप्टस की पत्तियों जैसी नजर आती हैं। आयुर्वेद में इस औषधीय पत्ते के प्रयोग के कई लाभ बताए गए हैं। इसका इस्तेमाल कर कई  बीमारियों से बचा सकता है।

तेज पत्ता को जलाने से क्या होता है? burning tej patta

एक शोध के अनुसार, तेज पत्ते या तेज पत्ता पाउडर को जलाकर धुआं करने (अरोमाथेरपी) से तनाव कम हो सकता है और मानसिक शांति मिल सकती है। भागदौड़ भरी जिंदगी और हजारों टेंशन। ऐसे में तेज पत्ता आपके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है। इसे जलाने से थकान तो दूर होती ही है साथ ही दिमाग भी शांत हो जाता है।

तेज पत्ता आसपास के वातावरण में मौजूद दूषित कणों को भी दूर करता है।  यह आपके दिमाग को भी शांत रखता है और इसे जलाने पर मिलने वाली गंध थकान और च‍िड़च‍िड़ाहट भी दूर करती है। इसके अलावा, घर से कॉकरोच और मच्‍छर भगाने के लिए भी तेज पत्‍ते का इस्‍तेमाल किया जाता है। इसे जलाकर कमरे व किचन के कोनों में रखने से घर में  मच्‍छर और कॉकरोच कम हो जाएंगे

तेज पत्ता के फायदे – Benefits of Bay Leaf (Tej patta) in Hindi

  • तेजपत्ता का पेस्ट बनाएं, इसे शैम्पू में मिलाएं और इसका इस्तेमाल करें। यह रूसी का इलाज करने में मदद करता है।
  • सूजन और अन्य सामान्य दर्द को कम करने के लिए, तेज पत्ता के तेल की कुछ बूँदें लें और प्रभावित क्षेत्रों पर मालिश करें।
  • पेट की ख़राबी को दूर करने और पाचन विकारों की समस्याओं को कम करने के लिए, भोजन के साथ तेजपत्ता का अर्क पिएं।
  • बुखार को कम करने के लिए, एक कप पानी उबालें और 2 से 3 तेज पत्ता (Bay leaf) डालें, जलसेक को ढककर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। बाद में इसे चाय के कप में डालें और इसका सेवन करें।
  • खांसी और फ्लू को ठीक करने के लिए, पानी को उबालें और इसमें कुछ तेज पत्ता (Bay leaf) डालें। इसके बाद घोल को ढककर 15 मिनट के लिए रख दें। बाद में एक कपड़े को पानी में भिगोकर छाती पर रखने से तुरंत आराम मिलता है।
  • त्वचा के संक्रमण के इलाज के लिए, तेज पत्ता (Bay leaf) का पेस्ट प्रभावित जगह पर लगाएं।
  • तेज पत्ता चाय का काढ़ा गर्म पानी के साथ पीने से कब्ज और अनियमित मल त्याग में मदद मिलती है।
  • तेज पत्ता (Bay leaf) का तेल लकवा और मांसपेशियों में दर्द के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है।
  • कैंसर से बचाव के लिए नियमित रूप से तेजपत्ते के पत्तों का सेवन करें।
  • तेजपत्ते के पत्तों से बने अर्क का उपयोग दांतों की समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • गठिया के इलाज के लिए रोजाना खाना पकाने में तेजपत्ते के पत्ते का इस्तेमाल करें।
  • कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए 7 तेजपत्ते के पत्ते और 300 ग्राम सीताफ़ल के पत्तों को 600 ml पानी में उबालें जब तक कि यह 300 ml  ना रह  जाए, फिर इस पानी को नियमित रूप से पीएं।
  • खुजली या पित्ती के इलाज के लिए, तेजपत्ते के पत्ते और छाल लें और तब तक पीसें जब तक यह चिकना न हो जाए। फिर इसमें पर्याप्त मात्रा में नारियल का तेल मिलाएं और इसे खुजली वाली जगह पर लगाएं।

तेज पत्ता के नुकसान :

  • कुछ लोगों को तेज पत्ते के तेल से एलर्जी भी होती है, क्योंकि इसमें यूजेनॉल होता है।
  • तेजपत्ते का धुआं भी कुछ लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।
  • रोग के अनुसार और डाक्टर  की सलाह के अनुसार किसी भी नुस्खे का  प्रयोग करें।

Disclaimer: The information included at this site is for educational purposes only and is not intended to be a substitute for medical treatment by a healthcare professional.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here