13.1 C
Delhi
Monday, November 29, 2021

पपीते के बीज के गजब के फायदे : Health Benefits of Papaya Seeds in Hindi

Must read

शुगर के मरीजों के लिए कौन सा फल सर्वोत्तम है और कोनसा नुकसानदायक ! fruits for diabetic patients

शुगर के मरीजों के लिए कौन सा फल सर्वोत्तम है | Which Fruit Is Best For Sugar Patient फल स्वस्थ आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा...

रात को सोने से पहले तकिये के नीचे रख लें लहसुन की एक कली, फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान!

लहसुन के फायदे: सोने से पहले तकिये के नीचे रखें लहसुन Garlic under pillow बहुत से लोग जानते हैं कि लहसुन हमारे शरीर के लिए...

Migraine ka ilaj : पुरानी घातक माइग्रेन की समस्या का सबसे आसान उपाय !

 Migraine ka ilaj : पुराने माइग्रेन वाले लोगों में लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए हाल ही में पौधों पर आधारित अनुसंधान किया गया...

सावधान ! हार्ट अटैक के 1 महीने पहले से दिखने लगते हैं ये लक्षण : Heart Attack Early Signs

हार्ट अटैक के 1 महीने पहले से दिखने लगते हैं ये लक्षण हार्ट अटैक का ख़तरा महिलाओं की बजाए पुरुषों को ज्यादा होता है और...

क्या आप पपीता खा कर पपीते के बीज फेंक देते  हैं?   क्या आप  जानते हैं। पपीते के फल में ही नहीं बल्कि इसके बीज में भी भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसे खाने के कई फायदे हैं (Papaya Seeds Benefits)। पपीते में एक खास तरह का एंजाइम पपैन होता है। इसके बीजों में भी प्रचुर मात्रा में होता है। यह प्रोटीन को पेप्टाइड्स और अमीनो एसिड में तोड़ देता है और शरीर से खराब  बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है।

Health Benefits of Papaya Seeds

पेट के कीड़ों का कारगर इलाज : 

यह पेट के कीड़ों को खत्म करने में कारगर है। पपीते  के बीज खाने का सबसे बड़ा लाभ में से एक  है कि यह पेट में खराब  बैक्टीरिया को खत्म करने में  मदद करता है। पपीते के बीज का सेवन पेट की कई समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। साथ ही पाचन से जुड़ी समस्याओं जैसे एसिडिटी को भी स्थायी रूप से दूर किया जा सकता है।

कैंसर रोधी गुण:

पपीते के बीज में पॉलीफेनोल्स होते हैं जो शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। ये हमारे शरीर को तरह-तरह के कैंसर से बचाते हैं।पपीते के बीज में आइसोथियोसाइनेट भी होता है, जो कैंसर कोशिकाओं के निर्माण और विकास को रोकता है।

किडनी के लिए फायदेमंद :

पपीते के बीज हमारी किडनी को खराब होने से बचाते हैं। पपीते के बीज का सेवन हमारे गुर्दे के सुचारू कामकाज को सुनिश्चित करता है।

हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखता है:

पपीते के बीज हमारे दिल की रक्षा करते हैं। ये बीज विभिन्न एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं जो हमारे शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। ये  रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करते हैं, जो हमारे दिल को विभिन्न विकारों से बचाता है।

सूजन को कम करता है:

पपीते के बीज सूजन को कम करने में कारगर साबित होते हैं। पपीते के बीज विटामिन सी और एल्कलॉइड, फ्लेवोनोइड्स और पॉलीफेनोल्स जैसे यौगिकों से भरपूर होते हैं। ये सभी यौगिक एंटी इन्फ्लामेट्री  गुण प्रदर्शित करते हैं।

इस प्रकार वे गठिया, गठिया आदि जैसे रोगों में सूजन को रोकने और कम करने में उपयोगी होते हैं।

हमारी त्वचा के लिए अच्छा है: papaya seeds for skin

पपीते के बीज एंटी-एजिंग गुण प्रदर्शित करते हैं। वे हमारी त्वचा की चमक बनाए रखते हैं और इस प्रकार महीन रेखाओं और झुर्रियों के विकास को रोकते हैं।

जीवाणुरोधी: papaya seeds benefits in hindi

पपीते के बीज हमारे शरीर को स्टैफिलोकोकस ऑरियस, शिगेला डाइसेंटरिया, साल्मोनेला टाइफी, स्यूडोमोनास एरुगिनोसा, एस्चेरिचिया कोलाई आदि बैक्टीरिया से बचाते हैं।

मासिक धर्म के दर्द से राहत :

पपीते में कैरोटीन होता है और यह पदार्थ शरीर को एस्ट्रोजन नामक हार्मोन के उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद करता है। जबकि पपीते के बीज मासिक धर्म को प्रेरित करने में मदद कर सकते हैं और इसकी आवृत्ति भी बढ़ा सकते हैं, वे मासिक धर्म की ऐंठन के प्रबंधन में भी कुछ हद तक मदद कर सकते हैं। मासिक धर्म के दर्द से राहत पाने के लिए पपीते के बीज का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

लीवर सिरोसिस के लिए :

पपीते के बीजों में लीवर सिरोसिस जैसी बीमारियों के प्रबंधन में मदद करने के लिए आवश्यक महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं। रोजाना 3 से 4 पपीते के बीजों को पीसकर और नींबू के रस में मिलाकर खाने से लीवर सिरोसिस के इलाज और ठीक होने में मदद मिल सकती है।

फ़ूड पॉइज़निंग को ठीक करता है:

शोध से पता चला है कि पपीते के बीजों का अर्क तैयार करने और लेने से ई.कोली, साल्मोनेला, स्टैफिलोकोकस आदि जैसे बैक्टीरिया को सफलतापूर्वक मारने में मदद मिल सकती है, जो फूड पॉइज़निंग के अधिकांश मामलों के लिए जिम्मेदार हैं।

वजन कम करने में मदद करता है  

पपीते के बीज खाने से पाचन क्रिया बेहतर होती है। यह मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है। यह कैलोरी बर्न करने में मदद करता है।

पाचन क्रिया को ठीक करता है

पपीते के बीज को शहद या दूध के साथ पीने से पेट की समस्या दूर होती है। पपीते के बीज को स्मूदी या जूस में खा सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि इनका स्वाद कड़वा होता है। कड़वे स्वाद से बचने के लिए पपीते के बीजों को पीसकर नींबू, शहद या गुड़ खा सकते हैं।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है:

पपीते के बीज फ़ोलिक एसिड जैसे मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड से भरपूर होते हैं। ये फैटी एसिड खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल कोलेस्ट्रॉल) को कम करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करते हैं।
पपीते के बीज फाइबर से भी भरपूर होते हैं। फाइबर शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है।

नोट : पपीते के बीज का ज्यादा सेवन करने से बचें। ध्यान रखें कि इससे आपको नुकसान हो सकता है। अगर आपको पहले से ही कोई स्वास्थ्य समस्या है, तो पपीते के बीज खाने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना सबसे अच्छा है।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

शुगर के मरीजों के लिए कौन सा फल सर्वोत्तम है और कोनसा नुकसानदायक ! fruits for diabetic patients

शुगर के मरीजों के लिए कौन सा फल सर्वोत्तम है | Which Fruit Is Best For Sugar Patient फल स्वस्थ आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा...

रात को सोने से पहले तकिये के नीचे रख लें लहसुन की एक कली, फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान!

लहसुन के फायदे: सोने से पहले तकिये के नीचे रखें लहसुन Garlic under pillow बहुत से लोग जानते हैं कि लहसुन हमारे शरीर के लिए...

Migraine ka ilaj : पुरानी घातक माइग्रेन की समस्या का सबसे आसान उपाय !

 Migraine ka ilaj : पुराने माइग्रेन वाले लोगों में लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए हाल ही में पौधों पर आधारित अनुसंधान किया गया...

सावधान ! हार्ट अटैक के 1 महीने पहले से दिखने लगते हैं ये लक्षण : Heart Attack Early Signs

हार्ट अटैक के 1 महीने पहले से दिखने लगते हैं ये लक्षण हार्ट अटैक का ख़तरा महिलाओं की बजाए पुरुषों को ज्यादा होता है और...

नींबू और शहद के साथ गर्म पानी के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ: lemon water and honey

स्वास्थ्य  विशेषज्ञों ने हमेशा सुझाव दिया है कि  सुबह के  कॉफी या चाय की जगह गर्म पानी, शहद और निम्बू   के मिश्रण का इस्तेमाल...