Home Lifestyle Health & Fitness स्वस्थ जीवन चाहते हैं तो शरीर को डिटॉक्स (Detox) जरूर करें : Benefits of Detox in Hindi

स्वस्थ जीवन चाहते हैं तो शरीर को डिटॉक्स (Detox) जरूर करें : Benefits of Detox in Hindi

0
स्वस्थ जीवन चाहते हैं तो शरीर को डिटॉक्स (Detox) जरूर करें : Benefits of Detox in Hindi

 Detox diet से कैसे करें शरीर की अंदरूनी सफाई

अक्सर हम  बिना किसी कारण सुस्ती महसूस करने लगते हैं, हमारे चेहरे पर अचानक पिंपल्स आ जाते हैं, हमारा खाना ठीक से नहीं पचता… यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आपके शरीर को डिटॉक्स करने की जरूरत है! जब आप ‘डिटॉक्स’ शब्द सुनते हैं, तो आपके दिमाग में कई तरह के विचार आ सकते हैं जैसे ग्रीन हर्बल ड्रिंक्स या तीखे व्हीटग्रास शॉट्स!  डिटॉक्स आपके शरीर को आराम, सफाई और पोषण देने का काम करता  है। Detoxing विषाक्त पदार्थों को हटाता है और आपके शरीर को महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रदान  करता है जो आपके स्वास्थ्य में काफी सुधार कर सकते हैं।

डिटॉक्सिंग क्या है? What is Detoxing?

सरल शब्दों में, डिटॉक्सिंग आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों और अशुद्धियों को खत्म करने और आपके शरीर को स्वस्थ और आकर्षक बनाने  में मदद करने की एक प्रक्रिया है। डिटॉक्स आपको शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से शुद्ध कर सकता है। यह आपके शरीर की अंदर  से  सफाई करता है और आपको स्वस्थ जीवन जीने में सहायता करता है।

आपको अपने शरीर को डिटॉक्स क्यों करना चाहिए?

आपका आहार या जीवनशैली कितनी भी स्वस्थ क्यों न हो, शरीर लगातार आपके खाने की आदतों, शराब, जीवन शैली या पर्यावरणीय परिवर्तनों से प्रभावित होता है। जब हमारे महत्वपूर्ण अंग अतिरिक्त दबाव में होते हैं, तो वे कुशलता से काम करने में असमर्थ होते हैं। इस वजह से बिमारिओं का जन्म होता है । शरीर को डिटॉक्स करने  के तत्काल प्रभाव भी होते हैं जैसे अधिक ऊर्जा, साफ त्वचा, अच्छी नींद, और बहुत कुछ।

क्या आपको को डिटॉक्स की जरूरत है?

साल में कम से कम एक बार अपने शरीर को डिटॉक्स करना बहुत जरूरी है क्योंकि पर्यावरण और भोजन में मौजूद विषाक्त पदार्थों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। गर्भवती माताओं, बच्चों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को डिटॉक्स अभ्यास का पालन नहीं करना चाहिए। कई दिखाई देने वाले लक्षण संकेत देते हैं कि आपके शरीर को डिटॉक्स की जरूरत है। जैसे कि:

  • त्वचा की समस्याएं – मुंहासे, दाने
  • अनियमित मल त्याग
  • फूला हुआ एहसास
  • सूजी हुई आंखें
  • अनियमित माहवारी
  • थकान
  • तनाव
  • उदास मन
  • सोने में परेशानी
  • आवर्तक सिरदर्द
  • भार बढ़ना

 शरीर को कैसे डिटॉक्स कर सकते हैं?

Detox आपके शरीर को आराम देने और आपकी सेल्फ-क्लीनिंग और सेल्फ-हीलिंग प्रक्रिया  है।  शरीर को डिटॉक्स करने के कुछ आसान तरीके हैं:

  • चीनी का सेवन कम करें
  • ज्यादा पानी पियो
  • शराब का सेवन सीमित करें
  • पौष्टिक भोजन खाएं
  • ग्रीन टी और डिटॉक्स ड्रिंक पिएं
  • दैनिक व्यायाम
  • योग और ध्यान
  • अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करें
  • उचित नींद लें

शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए भोजन पदार्थ और जूस :

Foods and Beverages to Detoxify Your Body

ये डिटॉक्सीफाइंग खाद्य पदार्थ और पेय आपके शरीर में चयापचय प्रक्रिया को स्वाभाविक रूप से रीसेट करने, आपके हार्मोन को संतुलित करने और आपको स्वस्थ  महसूस कराने में मदद करेंगे।

ब्रॉकली

ब्रोकोली का हमारे पाचन तंत्र पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, ये  एंटीऑक्सिडेंट भरपूर होता है जो एंजाइमों को डिटॉक्स करने में मदद करता है जो अवांछित दूषित पदार्थों को बेअसर करने और खत्म करने में मदद करता है, जिससे हमें स्वस्थ महसूस होता है।

खीरा पुदीना डिटॉक्स ड्रिंक

जब हम एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खीरा और नींबू के साथ पुदीना मिलाते हैं, तो यह तेज गर्मी से राहत देने के लिए एकदम सही पेय बनता है। खीरा और पुदीना सूजन को कम करने में मदद करता है जबकि नींबू विटामिन सी प्रदान करता है।

नींबू

नींबू के रस का रोजाना सेवन शरीर के पीएच स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। इनमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी   होता है और यह डिटॉक्सीफिकेशन में बहुत मददगार होता है।  शरीर  से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए अपने दिन की शुरुआत नींबू पानी से करने की कोशिश करें।

सेब

” दिन में  एक सेब डॉक्टर को दूर रखता है” क्या इसका कोई मतलब है? क्या इस फल को इतना खास बनाता है कि हर बार इसे अपने आहार में शामिल करने की सलाह दी जाती है? इसका उत्तर इस तथ्य में निहित है कि सेब में उच्च फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो आंतों के मार्ग को साफ करते हैं, सभी अवांछित विषाक्त पदार्थों और अपचित खाद्य पदार्थों को बाहर निकालते हैं।

हल्दी

आयुर्वेद में हल्दी को उसके औषधीय गुणों के लिए प्राचीन काल से ही महत्व दिया जाता रहा है। हल्दी पाचन और यकृत विकारों के इलाज में मदद करती है। जब हम हल्दी का सेवन करते हैं, तो यह रक्त को डिटॉक्स करने, सूजन को कम करने और आंतरिक रक्त के थक्के को रोकने में मदद करती है।

गाजर

गाजर सबसे प्रभावी डिटॉक्स खाद्य पदार्थ है जिसमें उच्च एंटीऑक्सीडेंट स्तर होता है। यह खनिजों और विटामिन ए में समृद्ध है जो कब्ज जैसी आम पाचन समस्याओं से लड़ता है।

ताज़ा नारियल पानी और पुदीना डिटॉक्स

एक त्वरित डिटॉक्स ड्रिंक जिसमें केवल तीन अवयवों की आवश्यकता होती है: नारियल पानी, नींबू और पुदीना। जब हम इस डिटॉक्स ड्रिंक को लेते हैं, तो यह लीवर और आंतों के मार्ग से सभी हानिकारक विषाक्त पदार्थों को साफ कर देता है, जिससे आप पूरे दिन के लिए तरोताजा हो जाते हैं।

चुकंदर

चुकंदर मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन सी से भरपूर होता है। यह लीवर और रक्त को डिटॉक्स करने में मदद करता है।

लहसुन और अदरक

लहसुन और अदरक दो प्राचीन जड़ी-बूटियाँ हैं जो पकाए जाने पर अपने स्वाद के लिए अविश्वसनीय रूप से प्रसिद्ध हैं। हर सुबह अदरक की चाय के साथ खुद का इलाज करें जो शरीर और दिमाग को प्रभावी ढंग से शांत करती है और विषाक्त मुक्त आहार के लिए अपने भोजन में लहसुन को शामिल करें। लहसुन शरीर से आंतों के संक्रमण को साफ करने में मदद करता है जबकि अदरक पसीने के माध्यम से विषहरण प्रक्रिया में मदद करता है।

डिटॉक्स के लाभ :Benefits of Detox

  • मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली
  • स्वस्थ और चमकती त्वचा
  • मानसिक स्थिरता
  • संतुलित भावनाएं
  • आत्मविश्वास और सकारात्मकता में सुधार
  • पुरानी बीमारियों की रोकथाम
  • वजन घटना
  • नई स्वस्थ आदतें और दिनचर्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here