Home Lifestyle Health & Fitness वजन कम करने से लेकर कैंसर तक कलौंजी के 12 हैरान करने वाले फ़ायदे : Health Benefits of Kalonji Seeds

वजन कम करने से लेकर कैंसर तक कलौंजी के 12 हैरान करने वाले फ़ायदे : Health Benefits of Kalonji Seeds

0
वजन कम करने से लेकर कैंसर तक कलौंजी के 12 हैरान करने वाले फ़ायदे : Health Benefits of Kalonji Seeds

वजन कम करने से लेकर कैंसर तक कलौंजी के 12 अद्भुत फायदे : Kalonji ke fayde in Hindi

भारत में कोई भी डिश बिना मसालों के अधूरी है। “कलौंजी” जिसे काला जीरा भी कहा जाता है, हर रसोई में एक बहुत ही लोकप्रिय मसाला है। अंग्रेजी में इसे सौंफ का फूल, काला जीरा, जायफल का फूल, रोमन धनिया कहते हैं। यह एक स्वादिष्ट मसाला है जिसका अपना मीठा और पौष्टिक स्वाद होता है। कलौंजी एक व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला औषधीय पौधा है जिसका एक हजार साल का इतिहास है। इसका उपयोग कई रूपों में होता है जैसे कलौंजी का तेल, भुने हुए बीज, कच्चे बीज आदि।

कलोंजी ने मौजूद पोषक तत्व Nutritional Value of Kalonji

कलौंजी के बीज कच्चे फाइबर, अमीनो एसिड, आयरन, सोडियम, कैल्शियम और पोटेशियम का एक पावरहाउस हैं। कलौंजी विटामिन में भी समृद्ध है जिसमें शामिल हैं – विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी 12, नियासिन और विटामिन सी। कलौंजी का तेल अन्य तेल की तुलना में काफी बेहतर है क्योंकि इसमें आवश्यक फैटी एसिड, विटामिन और खनिज होते हैं। इसमें लगभग 17% प्रोटीन, 26% कार्बोहाइड्रेट और 57% वनस्पति वसा और तेल शामिल थे।

कलौंजी के बीज के स्वास्थ्य लाभ –Health Benefits of Kalonji Seeds –

1.कलौंजी का बीज यादाश्त और एकाग्रता बढ़ाता है

कलौंजी के बीजों को शहद के साथ मिला कर खाने से बुद्धि तेज होती है। मस्तिष्क के बेहतर कार्य के लिए इसे रोजाना खाली पेट सेवन करें। बुजुर्ग आयु वर्ग के लिए उनकी कमजोर याददाश्त में सुधार करने के लिए यह बहुत मददगार है। आयुर्वेद पुदीने की पत्तियों के साथ कलौंजी के बीजों का सेवन करने की सलाह देता है जो याददाश्त को बढ़ा सकते हैं और अल्जाइमर रोग जैसे तंत्रिका संबंधी विकारों को रोक सकते हैं।

2.कलौंजी का बीज डायबिटीज को रोके – kalonji Prevent Diabetes

कलौंजी टाइप 2 डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में काफी मददगार होती है। मधुमेह के रोगी वांछनीय परिणामों के लिए खाली पेट काली चाय के साथ कलौंजी के तेल का सेवन कर सकते हैं।

3.कलौंजी स्वस्थ हृदय के लिए – kalonji for Healthy heart

कलौंजी दिल के लिए काफी असरदार होती है। यह  शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करके  दिल को स्वस्थ रखता है। अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको नियमित रूप से दूध के साथ कलौंजी के तेल का सेवन करना चाहिए।

4.कलौंजी का तेल सूजन को कम करता है – kalonji oil Reduces inflammation

कलौंजी के बीजों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो विभिन्न प्रकार की पुरानी सूजन का इलाज कर सकते हैं। यह जोड़ों के बीच चिकनाई प्रदान करके जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए जाना जाता है। आयुर्वेद सूजन को कम करने के लिए रोजाना कलौंजी के तेल का सेवन करने की सलाह देता है।

5.कलौंजी का तेल रक्तचाप को नियंत्रित करता है- kalonji Controls blood pressure

एक चम्मच कलौंजी का तेल कर सकता है जादू! जी हां, यह आपके रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है और पुनरावृत्ति की प्रवृत्ति को भी तोड़ सकता है। जो लोग उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं, वे एक चम्मच कलौंजी के तेल को गुनगुने पानी के साथ पी सकते हैं।

6.दांतों की मजबूती के लिए

सिर्फ आपके दांत ही नहीं, कलौंजी आपके समग्र मौखिक स्वास्थ्य जैसे कि मसूड़ों से खून आना और कमजोर दांतों के लिए फायदेमंद है। दांतों के दर्द को दूर करने के लिए कलौंजी रामबाण औषधि है। ओरल हेल्थ को बेहतर बनाने के लिए बस आधा चम्मच कलौंजी का तेल एक कप दही में मिलाकर अपने मसूड़ों और दांतों पर दिन में दो बार लगाएं।

7.अस्थमा से राहत देता है

प्रदूषण के कारण अस्थमा एक बहुत ही आम बीमारी हो गई है। कलौंजी अस्थमा से पीड़ित लोगों के लिए एक शक्तिशाली औषधि है। बस गर्म पानी में कलौंजी का तेल और शहद मिलाकर रोजाना पिएं।

8.वजन कम करने के लिए कलौंजी का इस्तेमाल kalonji for weight loss

  • कलौंजी आपको स्लिम और ट्रिम दिखने के लिए आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद कर सकती है। अध्ययनों के अनुसार कलौंजी के बीजों को गर्म पानी के साथ सेवन करने से आपका वजन कम होगा।

  • एक गिलास गुनगुने नींबू पानी में कलौंजी पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाएं। दिन में दो बार इसका सेवन करें। इससे  फैट और मोटापा आसानी से घट जाएगा।

  • सब्जी, चटनी और सलाद में एक चम्मच कलौंजी के बीज को मिलाकर नियमित सेवन  पेट की चर्बी और वजन घटाने का सबसे नेचुरल तरीका है।

9.त्वचा और बालों की समस्याओं के लिए कलौंजी

  • हर कोई अच्छा दिखना चाहता है  इसमें कलौंजी आपकी मदद कर सकती है। यह त्वचा और बालों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती है। ग्लोइंग स्किन के लिए आप इसके तेल का इस्तेमाल नींबू के रस के साथ कर सकते हैं। कलौंजी आपके बालों को मजबूत बनाने और बालों को झड़ने से रोकने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर है।

  • कलौंजी में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं, जो बालों को झड़ने से बचाते हैं और उन्हें मज़बूती देते हैं। इसलिए कलौंजी के तेल से रोज़ाना स्कैल्प पर मालिश करनी चाहिए और कलौंजी का पेस्ट बालों में लगाना चाहिए।

  • डैंड्फ या रुसी से छुटकारा पाने के लिए क़लौंजी और मेथी के दानों को पीस कर पाउडर बना लें। फिर उसमें नारियल तेल, अरंडी तेल डाल कर मिक्स करें, फिर उसे सूरज की रोशनी में रखें। दो-तीन हफ़्तों तक ऐसा करें, इसके बाद बालों में लगाएं।

10. गुर्दे (kidney)की सेहत के लिए

कलौंजी रक्त शर्करा, सीरम क्रिएटिनिन के स्तर और रक्त यूरिया के स्तर को कम करके मधुमेह अपवृक्कता (diabetic nephropathy) को कम करने के लिए प्रभावी है। इसका उपयोग गुर्दे की पथरी और संक्रमण को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।

11.कैंसर से बचाव के लिए – Anti-cancer

कलौंजी एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर है जो कैंसर पैदा करने वाले फ्री रेडिकल्स को बेअसर करता है। यह विशेष रूप से स्तन कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर, फेफड़ों के कैंसर और अग्नाशय के कैंसर के खिलाफ हमारी रक्षा करता  है।

12.सिरदर्द कम करें

अनावश्यक रूप से आधुनिक दवा की गोलियां लेने के बजाय प्राकृतिक उपचार का प्रयोग करें। बस कलौंजी के तेल को माथे पर मलने से आपका गंभीर सिरदर्द कम हो सकता है और आपको आराम मिल सकता है।

कलौंजी के अन्य स्वास्थ्य लाभ

  • कब्ज दूर करे
  • बवासीर को ठीक करता है
  • कोलेस्ट्रॉल कम करता है
  • पेट के अल्सर को ठीक करता है

कलौंजी के नुकसान और एलर्जी

वेसे तो कलौंजी का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। हालांकि, जब ज्यादा मात्रा में लिया जाता है तो इससे निम्न रक्त शर्करा का स्तर या निम्न रक्तचाप हो सकता है। इसके अलावा, इसका प्रभाव स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए अज्ञात है। इसलिए  स्तनपान के दौरान कलौंजी के इस्तेमाल से बचना अच्छा है। कलौंजी सर्जरी के दौरान या बाद में आपके रक्त के थक्के जमने की प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न कर सकता है। कभी-कभी, कलौंजी को त्वचा पर लगाने पर एलर्जी की प्रतिक्रिया हो सकती है।

कलौंजी के इस्तेमाल पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरुर लेनी चाहिए ।

Disclaimer: The information included at this site is for educational purposes only and is not intended to be a substitute for medical treatment by a healthcare professional. Because of unique individual needs, the reader should consult their physician to determine the appropriateness of the information for the reader’s situation.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here