Home Lifestyle Health & Fitness शिलाजीत के अद्भुत स्वास्थ लाभ सावधानियां और नुकसान – Health Benefits of Shilajit in Hindi

शिलाजीत के अद्भुत स्वास्थ लाभ सावधानियां और नुकसान – Health Benefits of Shilajit in Hindi

0
शिलाजीत के अद्भुत स्वास्थ  लाभ सावधानियां और नुकसान – Health Benefits of Shilajit in Hindi

शिलाजीत के फाएदे और नुकसान  – Shilajit ke fayde in Hindi

शिलाजीत, जिसे पर्वतों का राजा और दुर्बलता का नाश करने वाला भी कहा जाता है, आयुर्वेद के अनुसार, शिलाजीत में 85 तरह के मिनरल्स होते हैं. यह हिमालय, तिब्बत और गिलगिट क्षेत्र में स्थित कुछ खास चट्टानों में पाई जाती है, इसलिए इसे दुर्लभ माना जाता है

शिलाजीत चिपचिपी और काले-भूरे रंग की दिखाई देती है. यह कड़वा, कसैला, गर्म तथा वीर्यवर्धक बताया गया है. शिलाजीत के सूखने पर उसमें गौमूत्र जैसी गंध आती है

शिलाजीत के विभिन्न स्वास्थ्य लाभ – Health Benefits of Shilajit

शिलाजीत को भारतीय वियाग्रा के नाम से भी जाना जाता है। यह शीघ्रपतन और कामोत्तेजना से वंचित लोगों में कामोत्तेजना को बढ़ाने का काम करता है।  शिलाजीत के सेवन से तंत्रिका तंत्र ठीक से काम करता है। मानसिक थकावट, अवसाद, तनाव और चिंता से निपटने के लिए शिलाजीत का सेवन करना चाहिए। शिलाजीत का एक अन्य महत्वपूर्ण कार्य यह है कि यह विभिन्न शारीरिक प्रणालियों को नियंत्रित करता है, जैसे कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली और हार्मोन संतुलन। इसके सेवन से महिलाओं के पीरियड्स की अनियमितता समाप्त हो जाती है।

शिलाजीत के बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ

प्रजनन क्षमता और टेस्टोस्टेरोन के स्तर में सुधार करता है

पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने के लिए इस पदार्थ का उपयोग वर्षों से किया जा रहा है। जो पुरुष शिलाजीत का सेवन करते हैं उनमें शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता अधिक होती है। ये दो कारक निर्धारित करते हैं कि एक शुक्राणु अंडे की ओर कितनी दूर जाता है, जो गर्भाधान की संभावना को निर्धारित करता है।

एक शोध के अनुसार 45 से 55 वर्ष की आयु के पुरुषों को शिलाजीत से 90 दिनों तक लगातार उपचार किया गया। एक अवधि के बाद उनके बीच कुल टेस्टोस्टेरोन का स्तर काफी बढ़ गया था।

पुरुषों की तरह ही महिलाओं के लिए भी शिलाजीत का सेवन फायदेमंद माना जाता है। शिलाजीत  के सेवन से महिलाओं में बांझपन यानि इफंर्टिलिटी की समस्या कम होती है।

मस्तिष्क स्वास्थ में सुधार करता है

शिलाजीत में पाए जाने वाले विभिन्न यौगिक आपके मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाने में सहायक होते हैं। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ अल्जाइमर डिजीज में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, शिलाजीत उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है और लंबी उम्र बढ़ाता है। शिलाजीत के घटक अल्जाइमर रोग जैसी यादाश्सत से जुडी समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि शिलाजीत में मौजूद फुल्विक एसिड tau को बनने से रोकता है। यह एक प्रोटीन है जो न्यूरोफिब्रिलरी टेंगल्स के निर्माण के लिए जिम्मेदार है, जो बाद में अल्जाइमर रोग की ओर ले जाता है।

एनीमिया के इलाज के लिए – Shilajit ke Fayde  

एनीमिया के मुख्य कारणों में से एक आयरन की कमी है। यदि आपके रक्त में पर्याप्त हीमोग्लोबिन नहीं है तो आपको एनीमिया हो सकता है। यह थकान, सिरदर्द, कमजोरी और अनियमित दिल की धड़कन का कारण बन सकता है। इसमें शिलाजीत आपकी मदद कर सकता है क्योंकि इसमें उच्च स्तर का आयरन और ह्यूमिक एसिड होता है, जो रक्त में आपके आयरन के स्तर को स्थिर करेगा।

ऊंचाई की बीमारी – Shilajit Benefits in Hindi

शिलाजीत के विभिन्न लाभों में से, ऊंचाई की बीमारी(Altitude Sickness) का उपचार एक है। अधिक ऊंचाई पर, लोग सांस की बीमारियों, थकान और शरीर में दर्द से पीड़ित होते हैं। चूंकि शिलाजीत में 80 से अधिक खनिज होते हैं, जिनमें ह्यूमिक एसिड और फुल्विक एसिड शामिल हैं, यह ऊंचाई की बीमारी के रोगियों की मदद करता है।

शिलाजीत मस्तिष्क की संज्ञानात्मक क्षमताओं में भी सुधार करता है, सूजन को कम करता है और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। यह सब ऊंचाई की बीमारी के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

शरीर बनाए जवान

शिलाजीत उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को नियंत्रित करके और आपकी जीवन शक्ति को बनाए रखकर ऐसा करता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि फुल्विक एसिड की उपस्थिति, जो शिलाजीत के प्रमुख घटकों में से एक है, में सूजन-रोधी गुण होते हैं और यह एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है। इस प्रकार, यह आपके शरीर में सेलुलर क्षति के साथ-साथ आपके शरीर में मुक्त कणों के उत्पादन को कम करता है, जो दोनों उम्र बढ़ने का कारण बनते हैं।

हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है

शिलाजीत के कई स्वास्थ्य लाभों में से शायद सबसे महत्वपूर्ण हृदय पर इसका लाभकारी प्रभाव है। शिलाजीत एक एंटीऑक्सीडेंट ग्लूटाथियोन के स्तर को बढ़ाता है। यह आपके दिल के लिए अच्छा है। इसके अतिरिक्त, ह्यूमिक एसिड रक्त कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, जो  स्ट्रोक के जोखिम को कम करता है।

तनाव और चिंता को कम करे

शिलाजीत मस्तिष्क में डोपामाइन के स्राव को बढ़ा सकता है। यह चिंता और तनाव के स्तर को कम कर सकता है।

शिलाजीत का आपके शरीर पर शांत प्रभाव भी पड़ता है। यह पोटेशियम और मैग्नीशियम के उच्च स्तर के कारण है। ये घटक आपकी मांसपेशियों को आराम देते हैं, जिसमें आपके हृदय की मांसपेशियां भी शामिल हैं। यह शांत प्रभाव तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है।

पेट की सूजन और आंतों की सुरक्षा

शिलाजीत आपके पेट को सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव जैसी समस्याओं से बचा सकता है। इसमें बेंजोइक एसिड होता है, जो एंटीबैक्टीरियल होता है। यह आंतों के संक्रमण और अन्य आंतों की समस्याओं को रोकने में मदद कर सकता है।

कैंसर से बचाव और रक्षा में मदद करता है 

शिलाजीत विभिन्न प्रकार के कैंसरों से बचाव के लिए फायेदेमंद  है, जिनमें फेफड़े, स्तन, कोलन, डिम्बग्रंथि और यकृत कैंसर शामिल हैं।

शिलाजीत के नुकसान- Shilajit Ke Nuksan

शिलाजीत के सेवन से कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं

  • शरीर में अत्यधिक गर्मी उत्तेजना।
  • सिरदर्द
  • थकान
  • पेटदर्द
  • कुछ लोगों को एलर्जी का अनुभव हो सकता है। वे चकत्ते, चक्कर आना और हृदय गति में वृद्धि विकसित कर सकते हैं।

शिलाजीत का सेवन कैसे करें? – How to use Shilajit?

शिलाजीत आमतौर पर पाउडर या तरल रूप में बेचा जाता है। तरल रूप आमतौर पर पानी या दूध में घुल जाता है और इसे दिन में 1-3 बार सेवन किया जा सकता है। इस्तेमाल से पहले अपने डाक्टर से परामर्श जरुर करें । पाउडर के रूप को आमतौर पर एक गिलास दूध के साथ मिलाया जाता है और सिफारिशों के अनुसार इसे रोजाना भी लिया जा सकता है। अधिकांश स्वस्थ लोगों के लिए, प्रति दिन अधिकतम सुरक्षित खुराक 300-500mg है, कुछ लोगों के लिए यह और भी कम हो सकती है।

शिलाजीत  खरीदने से पहले इन बातों का ध्यान रखें

जांचें कि उपलब्ध शिलाजीत शुद्ध है या नहीं। शिलाजीत को कभी भी कच्चे या असंसाधित रूप में न खरीदें। कच्ची शिलाजीत का सेवन हमें बीमार कर सकता है क्योंकि इसमें भारी धातु, मुक्त कण, कवक आदि हो सकते हैं। जांचें कि क्या शिलाजीत एक प्रतिष्ठित स्रोत द्वारा निर्मित है। जांचें कि क्या उपलब्ध शिलाजीत प्रमाणित है।

Disclaimer: The information included at this site is for educational purposes only and is not intended to be a substitute for medical treatment by a healthcare professional.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here