Home Lifestyle Health & Fitness सहजन है कुदरत का चमत्कार – 300 से ज्यादा रोगों में उपयोगी !

सहजन है कुदरत का चमत्कार – 300 से ज्यादा रोगों में उपयोगी !

0
सहजन है कुदरत का चमत्कार  – 300 से ज्यादा  रोगों में उपयोगी !

 मोरिंगा (सहजन) के फायदे और नुकसान – Moringa Benefits and Side Effects in Hindi

सहजन का पौधा या Moringa oleifera जिसे हिंदी में सहजन के नाम से भी जाना जाता है, भारत में एक बहुत ही आम पौधा है। लेकिन हम में से ज्यादातर लोग इस पौधे के आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभों से अनजान हैं। यह अपने पौष्टिक पत्तेदार साग, फूलों की कलियों और खनिज युक्त हरी फलियों के लिए दुनिया भर में जाना जाता है।

सहजन की पत्तियों में एस्‍कॉर्बिक एसिड, फोलिक और फेनोलिक मिलते हैं और लगभग 40 से ज़्यादा एंटीऑक्‍सीडेंट पाए जाते हैं. इसकी पत्तियों के अर्क में मधुमेह विरोधी और एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं जिस वजह से ये मधुमेह रोगी के लक्षणों को कम करने में सहायक होती हैं. ये इंसुलिन के स्‍तर और संवेदनशीलता को भी बढ़ा सकती हैं जिससे मधुमेह रोगी को फायदा मिलता है.

Sehjan के पोषक तथ्य

-आयुर्वेद में 300 रोगों का सहजन से उपचार बताया गया है। इसकी फली, हरी पत्तियों व सूखी पत्तियों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन-ए, सी और बी कॉम्पलैक्स प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

-सहजन का पौधा (पत्तियां) प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत हैं। 100 ग्राम ताजी कच्ची पत्तियों में 9.8 ग्राम प्रोटीन होता है।

-ताजा फली और बीज फ़ोलिक एसिड और विटामिन सी से भरपूर होते हैं।

-सहजन  विटामिन ए के सबसे अच्छा स्रोत  है।

– सहजन के पत्ते और फली में कई महत्वपूर्ण बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन जैसे फोलेट, विटामिन बी 6 (पाइरिडोक्सिन), थायमिन (विटामिन बी -1), राइबोफ्लेविन, पैंटोथेनिक एसिड और नियासिन की अच्छी मात्रा होती है।

-सहजन (पत्तियां) कैल्शियम, लोहा, तांबा, मैंगनीज, जस्ता, सेलेनियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों के बेहतरीन स्रोतों में से एक हैं।

MORINGA HEALTH BENEFITS –  sahjan ke fayde

सहजन के पौधे के कुछ आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ  :

1. रक्त शर्करा (Blood Sugar) के स्तर को नियंत्रित करता है

सहजन में 18 अमीनो एसिड होते हैं जो कई बीमारियों के इलाज में मदद करते हैं। एक महत्वपूर्ण उपयोग इसकी मधुमेह विरोधी संपत्ति है। मोरिंगा ओलीफेरा की पत्तियों के मेथनॉल अर्क का मूल्यांकन इसकी मधुमेह विरोधी प्रभावकारिता के लिए किया गया था। इसके लाभ प्राप्त करने के लिए इसे अपने नियमित सब्जी सूप में प्रयोग करें। sahjan ke fayde

2. जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता है

चरक ने इसका उल्लेख तेल के पौधे के स्रोत के रूप में भी किया है। इसके औषधीय लाभों और एनाल्जेसिक प्रभावों के कारण, मोरिंगा कई आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेलों में प्राथमिक घटक है। मोरिंगा के पत्ते कैल्शियम और फास्फोरस के अच्छे स्रोत  हैं। हड्डियों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए इन दोनों तत्वों की आवश्यकता होती है। चूंकि मोरिंगा के पत्तों में anti-inflammatory प्रकृति होती है, वे गठिया से लड़ने में मदद करते हैं और यहां तक कि क्षतिग्रस्त हड्डियों को भी ठीक कर सकते हैं।

मोरिंगा ओलीफेरा ऑस्टियोपोरोसिस से भी लड़ता है और हड्डियों और दांतों को मजबूत रखता है

3. याददाश्त और एकाग्रता को बढ़ाता है

ड्रमस्टिक्स में ग्लूटामिक एसिड की उपस्थिति अमोनिया के नशे को रोकने में मदद करती है। यह एक सक्रिय न्यूरोट्रांसमीटर पदार्थ भी है जो बदले में आपकी याददाश्त और सीखने की क्षमताओं में मदद करता है। अपनी दाल में सहजन की तीली फली ताकि उबालते समय आवश्यक पोषक तत्व दाल में प्रवाहित हो जाएं। benefits of moringa

4. प्रजनन क्षमता में सुधार

मोरिंगा फर्टिलिटी को बेहतर बनाने में भी फायदेमंद साबित हो सकता है। हाल के शोध से पता चलता है कि मोरिंगा का नियमित उपयोग शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने और पुरुषों में शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए जाना जाता है। यह एक न्यूरोट्रांसमीटर के रूप में भी कार्य करता है और हार्मोन उत्पादन में शामिल होता है। अपनी पुदीना या धनिया की चटनी में मोरिंगा के पत्तों का प्रयोग करें और स्वाद के लिए थोड़ा लहसुन डालें।

5. मुँहासे साफ़ करने में मदद करता है

मोरिंगा अपने शुद्धिकरण गुणों के लिए जाना जाता है। मोरिंगा की पत्ती का अर्क और तेल गंभीर मुँहासे का इलाज कर सकते हैं। तेल त्वचा को शुद्ध करता है और इसे फिर से जीवंत करने में मदद करता है। मोरिंगा को आपकी नियमित सब्जियों के साथ सरसों की चटनी के साथ पकाई जाने वाली एक साधारण ग्रेवी डिश के रूप में लिया जा सकता है। moringa powder benefits

6. ऊतक विकास को बढ़ावा देता है

मोरिंगा शिशुओं और बड़ों के लिए समान रूप से फायदेमंद होता है। इसमें हिस्टिडीन होता है जिसका उपयोग हिस्टामाइन बनाने के लिए किया जाता है जो एलर्जी प्रतिक्रियाओं के दौरान जारी एक तंत्रिका संबंधी यौगिक है। इसका उपयोग विकास और ऊतक की मरम्मत के लिए किया जाता है।

7. आंतों के कीड़ों को मारता है

मोरिंगा के फूल आंत में मौजूद किसी भी कीड़े से छुटकारा पाने में मदद करते हैं। सहजन के फूलों से आप स्वादिष्ट पकोड़े बना सकते हैं और अपनी पसंद की किसी भी चटनी के साथ इसका आनंद ले सकते हैं. moringa for weight loss

8. स्वस्थ गर्भावस्था में सहायक

ड्रमस्टिक्स प्रोटीन, विटामिन, खनिज, एंटी-ऑक्सीडेंट और इन सभी पोषक तत्वों से भरे होते हैं जो बढ़ते बच्चे के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को नियमित रूप से सहजन के पाउडर का सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि यह उनके शरीर में आयरन और कैल्शियम की कमी को दूर करता है।

9. त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद:

 मोरिंगा त्वचा और खोपड़ी की समस्याओं के लिए एक व्यापक समाधान है। यह  त्वचा को हाइड्रेट और पोषण देता है, बालों के विकास में सुधार करता है, UV क्षति को रोकता है और काले धब्बे, झुर्रियों और बालों के सफेद होने जैसे उम्र बढ़ने के संकेतों को रोकता है। मोरिंगा पाउडर में मौजूद कुछ विटामिन, खनिज और अमीनो एसिड बालों के लिए केरेटिन (keratin) प्रोटीन का निर्माण करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा सहजन पाउडर में मेथियो‍नीन (Methionine) अमीनो एसिड भी होता है जो आपके बालों को सल्‍फर की कमी से बचाता है। जिससे आप अपने बालों को झड़ने से रोक सकते हैं।

10. पेट के लिए अच्छा

मोरिंगा के पत्ते पाचन विकारों के लिए फायदेमंद होते हैं। जो लोग कब्ज, सूजन, गैस, गैस्ट्राइटिस और अल्सरेटिव कोलाइटिस से पीड़ित हैं, उन्हें मोरिंगा के पत्तों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए।सहजन की पत्तियों में पेट साफ करने वाले रेचक (laxative) प्रभाव भी होते हैं। जिसके कारण यह पेट में मौजूद विषाक्‍तता को आसानी से दूर कर सकते हैं। सहजन का चूर्ण खाने के फायदे विशेष रूप से कब्‍ज रोगी के लिए होते हैं। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पेट के अल्‍सर और अन्‍य पेट संबंधी संक्रमण का प्रभावी रूप से इलाज करते हैं।

पत्तियों में एंटीबायोटिक और रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो उन्हें पाचन विकारों के खिलाफ एक आदर्श उपाय बनाते हैं। यहां तक कि पत्तियों में बी विटामिन की उच्च मात्रा भी पाचन में सुधार करने में मदद करती है।

11.वजन घटाने के लिए – how to lose weight with moringa

मोटापा कम करने के लिए आप सहजन का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसमें क्लोरोजेनिक एसिड और एंटी-ओबेसिटी गुण मौजूद होते हैं, जो बढ़े हुए वजन को कम करने में मदद कर सकते हैं. मोरिंगा पाउडर में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है जो आपके पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ रखता है साथ ही यह आपकी भूख को भी नियंत्रित करता है। जिससे आपको बार-बार भूख लगने की संभावना कम हो जाती है। इसके अलावा सहजन की पत्तियों में क्‍लोरोजेनिक एसिड नामक एक एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को बर्न करने में सहायक होता है।

12. यौन शक्ति बढ़ाने के लिए सहजन

सहजन में टेरीगोसपरमीन (terigospermin) नाम का यौगिक (compound) होता है जो शुक्राणुओं को स्वस्थ करने और संख्या को बढ़ाने में मदद करता है। यह यौगिक सेक्स जीवन को बेहतर बनाने में और कामउतेजना को बढ़ाने में भी मदद करता है।

संस्कृत में, इस पौधे को शोभंजना के नाम से जाना जाता है जिसका अर्थ है एक बहुत ही शुभ वृक्ष। तो, आगे बढ़ें और इस सब्जी को अपने आहार में शामिल करें और इसके अनगिनत स्वास्थ्य लाभों का लाभ उठाएं। स्वस्थ रहें, खुश रहें

  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में सहजन पाउडर का सेवन करने से पहले आपको अपने डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • Disclaimer: The information included at this site is for educational purposes only and is not intended to be a substitute for medical treatment by a healthcare professional.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here