Home Religion Dussehra 2021: दशहरा par जरूर करें ये 10 काम, पैसों ki nahi होगी कमी, खुलेंगे तरक्की ke रास्ते

Dussehra 2021: दशहरा par जरूर करें ये 10 काम, पैसों ki nahi होगी कमी, खुलेंगे तरक्की ke रास्ते

0
Dussehra 2021: दशहरा par जरूर करें ये 10 काम, पैसों ki nahi होगी कमी, खुलेंगे तरक्की ke रास्ते

विजय दशमी ke दिन जरूर करें yeh काम…

दशहरा हिंदुओं ke प्रमुख त्योहारों mein se ek hai. आश्विन मास ki शुक्ल पक्ष ki दशमी तिथि यानि शुक्रवार ko दशहरा पर्व पूरे देश mein धूमधाम se मनाया जाएगा. Is दिन भगवान श्रीराम ke हाथों रावण ka वध hone ke बाद se hi इसे मनाने ki परंपरा चली आ रही hai. वहीं is दिन मां दुर्गा ne महिषासुर ka संहार bhi kiya tha, इसलिए bhi इसे विजय दशमी ke रुप mein मनाया jata hai. दशहरे par अस्त्र-शस्त्रों ki पूजा ki जाती hai aur विजय पर्व मनाया jata hai. Kahte hain is दिन कुछ खास उपाए karne se पैसों ki कमी nahi रहती aur तरक्की ke naye रास्ते bhi खुलेंगे. 2021 dussehra

विजय दशमी ke दिन apne अस्त्र-शस्त्र ki साफ-सफाई kar उसका निरीक्षण करें. इन अस्त्र-शस्त्रों ka पूजन bhi करें.

यदि आपका koi मुकदमा चल raha hai, to apne केस ki फाइल ghar ke मंदिर mein भगवान ki प्रतिमा ke आगे रख de. ऐसा karne se विजय प्राप्त ho सकती hai.

is दिन सूरजमुखी ki जड़ ka विधि पूर्वक पूजन karne ke बाद अपनी तिजोरी mein इसे रखें ऐसा karne se kabhi bhi aapke यहां धन ki कमी nahi होगी.

is दिन kisi कुशल योद्धा se युद्ध कौशल ki शिक्षा ग्रहण karne, अस्त्र-शस्त्र ke संचालन ka प्रशिक्षण लेना bhi शुभ hota hai.

विजय दशमी par भगवान श्रीराम ke 108 नामों ka जाप karne se जीवन mein आने वाली हर कठिनाई दूर होगी. साथ hi aapke साहस aur शौर्य mein वृद्धि होगी.

विजय दशमी par कन्याओ ke liye किए gye दान पुण्य कार्य se मां दुर्गा ka विशेष आशीर्वाद प्राप्त hota hai. धन mein बढोत्तरी होती hai औऱ सफलता मिलता hai.

is दिन badam लाल कपड़े mein लपेट kar पूजा ke दौरान रखें. पूजा ke बाद प्रतिदिन badam भिगो kar घिसाकर गाय ke देशी घी mein milakar khane se बुद्धि तीव्र होगी aur याददाश्त बढ़ेगी.

is दिन se प्रतिदिन गायत्री मंत्र ka 108 baar जाप karna शुरु करते hain, to बुद्धि-शुद्ध एवं निर्मल होगी, jisse aap अपनी शक्ति सामर्थ्य ka kisi कमजोर एवं निर्बल व्यक्ति par प्रयोग न करें aur अधर्म एवं अनीति ka मुकाबला करें. Isse आपका ह्रदय बल एवं आत्मबल bhi बढ़ेगा.

विजय दशमी ke दिन apne par परिवार par आए नकारात्मक दुष्प्रभाव ko khatm karne ko liye दक्षिणा दिशा mein मुंह करके हनुमानजी ka सामने तिल ke तेल ka दिया जलाएं aur सुंदरकांड ka उच्च स्वर mein पाठ करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here